पूर्व मंत्री नारद राय का आरोप बाढ़ राहत में प्रशासन कर रहा है अनदेखी

बलिया। पूर्व मंत्री नारद राय ने सदर तहसील के दुबहड़ से लेकर हल्दी तक के बाढ़ प्रभावित पीड़ितों से मुलाकात किया और उनकी समस्याओं को जानने के बाद कर जिला प्रशासन को अवगत कराते कहाकि बहुत दुःख की बात  बताना चाहता हूं कि जिला प्रशासन की किसी भी बाढ़ चौकी पर राजस्व विभाग का  कर्मचारी या अधिकारी अभी तक नही देखा गया । हर गांव के प्रधान ,बीडीसी ,जिला पंचायत के हारे जीते लोग अपनी पूरी ताकत से राहत कार्य में लगे हुए हैं, लेकिन उन्हें अब तक प्रशासनिक सहयोग नही मिल रहा। उन्होंने कहा कि लोग सड़क पर जानवर लेकर पिछले तीन दिनों से बैठे हुए हैं और जिला प्रशासन पशुओं को चारा और पीड़ितों को राहत के नाम पर खुले आम झूठ बोल रहा है कि   भूसा का इंतजाम करा रहे है। जबकि बाढ़ प्रभावित पशु पालकों एक किलो भी भूसा किसी को प्रशासन ने उपलब्ध नहीं कराया गया। इसलिए जिला प्रशासन से मांग करते हैं कि जितना जल्दी हो  भूसे का इन्तजाम करे और बरसात का मौसम है, इसलिए  पीड़ितों को तिरपाल का   इंतजाम प्राथमिकता के आधार पर कराया जाये। लोगों को मिट्टी का तेल नही मिल रहा है जिसके चलते गांव में अंधेरा है। जिला प्रशासन से बात करने पर यह जानकारी मिल रही हैं । मिट्टी का तेल कहि उपलब्ध नही है में जलशक्ति मंत्री की उस समीक्षा की निन्दा और धिक्कारना चाहता हूँ। मंत्री जी ने न जाने कौन-कौन सी परियोजनाओं को पूरा हो जाने का दावा करते हुए जनपद में बाढ़ की पूरी तैयारी हो चुकी हैं बताया ।जबकि अभी तक यहां भूसा का टेंडर तक  जिला प्रशासन ने नहीं कराया है ।  जानवर और इंसान की जान बचाना प्राथमिकता है। जिला प्रशासन को इसमें सहयोग करना चाहिए ।अगर नही कर सकते तो बताने का काम करे कि हम असफल है, हम बाढ़ प्रभावितो की कोई रक्षा नही कर सकते, तो जिला के लोगो से भीख मांग कर ही सही लोगो की जानमालकी हिफाजत की जायेगी। ।

Post a Comment

0 Comments